आंगनबाड़ी  के सामुदायिक स्कोर कार्ड का चौथा चरण सामाजिक परिवर्तन संस्थान द्वारा संपन्न

आंगनबाड़ी द्वारा दी जाने वाली सुविधाओं पर सामुदायिक स्कोर कार्ड का चौथा चरण सामाजिक परिवर्तन संस्थान गिरिडीह द्वारा संपन्न हुआ*


गिरिडीह :: सामाजिक परिवर्तन संस्थान द्वारा बोकारो चंदनकियारी प्रखंड के विभिन्न गांव में पिछड़े समुदायों की आजीविका में सुधार कार्यक्रम के तहत पिछले वर्षों से कार्य किया जा रहा है इस कार्यक्रम के तहत आंगनबाड़ी में मिलने वाली सुविधाओं को लेकर एक बड़े स्तर पर सामुदायिक स्कोर कार्ड का आयोजन एवं इसे पांच चरण में करना सुनिश्चित किया गया।

* पहले चरण में आंगनबाड़ी में मिलने वाली सुविधाओं का लिस्ट बनाकर 10 संकेतक तैयार किए गए और इस संदर्भ में समुदाय के लोगों को और आंगनबाड़ी सेविका को सामुदायिक स्कोर कार्ड की सूचना दी गई सामुदायिक स्कोर कार्ड के लिए 10 संकेतक तैयार किए गए जो इस प्रकार हैं:-
१. आंगनबाड़ी केंद्र का रोजाना समय पर खुलना और बंद होना।
२. आंगनबाड़ी केंद्र में स्वच्छता का स्तर।
३. आंगनबाड़ी सेविका का व्यवहार।
४. आंगनबाड़ी केंद्र में बच्चों की नियमित उपस्थिति।
५. आंगनबाड़ी केंद्र में शिक्षा का स्तर।
६. आंगनबाड़ी केंद्र में बच्चों के खेलने की व्यवस्था।
७. आंगनबाड़ी केंद्र में बच्चों का खानपान (पोषाहार तालिका के अनुसार)।
८. आंगनबाड़ी केंद्र में बच्चों की नियमित मासिक वजन ,नाप एवं ग्रोथ चार्ट का निर्माण।
९. कुपोषण की जानकारी।
१०. गर्भवती माताओं को तिरंगा भोजन संबंधित जानकारी एवं बैठक।

*दूसरे चरण* में आंगनबाड़ी सेविका के साथ 10 संकेतों के साथ उनका स्कोर तैयार किया गया ।

*तीसरे चरण में समुदाय के लोगों के साथ बैठक कर 10 संकेतों के अनुसार समुदाय द्वारा दिए गए अंक का स्कोर तैयार किया गया।

*चौथा चरण आज प्राथमिक विद्यालय मंझलाडीह में आयोजन किया गया। जिसमें ग्राम पंचायत मुखिया केंदुली देवी वार्ड मेंबर रब्बानी देवी , वार्ड मेंबर सुभद्रा देवी एवं अन्य 40 ग्रामीण उपस्थित हुए ।सामुदायिक स्कोर कार्ड का संचालन सी डब्ल्यू एस के प्रोजेक्ट समन्वयक प्रभाकर झा द्वारा की गई जिसमें उनका साथ चाइल्डलाइन की टीम सदस्य नील कमल द्विवेदी ने दिया। सामुदायिक स्कोर कार्ड का चौथा चरण में दूसरे चरण में आंगनबाड़ी सेविका द्वारा लिए गए स्कोर एवं तीसरे चरण में समुदाय के लोगों द्वारा लिए गए स्कोर का शांतिपूर्वक साझा करण किया गया। साझा करण करने के दौरान आंगनबाड़ी सेविका मालती देवी ने बड़े ही विनम्र भाव से अपने स्कोर को सामने रखा उदाहरण के तौर पर *सातवा संकेतक के तथ्य-समुदाय द्वारा आंगनबाड़ी केंद्र में बच्चों का खानपान में २ अंक दिए गए और आंगनबाड़ी सेविका द्वारा 5 अंक दिए गए थे यह दोनों अंको को देखकर समुदाय में संवाद होना शुरू हुआ लेकिन आंगनबाड़ी सेविका ने बड़े ही विनम्र भाव से लोगों को समझाया की मैं मानती हूं कि बच्चे को पोषाहार तालिका के अनुसार खाना मैं नहीं दे पा रही हूं मगर इसमें मेरी कोई गलती नहीं है सरकार द्वारा समय पर कोई भी पोषाहार मुझे नहीं दिया जाता है ऐसी स्थिति में मैं अपने घर की बच्चों की तरह अपनी कमाई से खरीद कर जो भी बन पाता है, बच्चे को देती हूं एक भी ऐसा दिन नहीं है जो मैं किसी भी बच्चे को भूखा लौटाती हूं इसीलिए मुझे 5 अंक मिलनी चाहिए और अंत में सभी द्वारा साझा अंक 4 तय किया गया। समुदाय और आंगनबाड़ी सेविका द्वारा सभी संकेतक को पर विचार करते हुए उसे कार्य पर लागू करने की बात कही गई

और अंत में *पांचवा चरण के लिए संकेतक 8. बच्चों की नियमित मासिक वजन , नाप एवं ग्रोथ चार्ट का निर्माण , संकेतक 9. कुपोषण की जानकारी एवं संकेतक 10 गर्भवती माताओं को तिरंगा भोजन संबंधित जानकारी एवं बैठक की कार्य योजना तैयार की गई कि आंगनबाड़ी सेविका का विशेष प्रशिक्षण एवं समुदाय के लोगों को जागरूकता के लिए सामाजिक परिवर्तन संस्थान की टीम को कार्य सौंपा जाना चाहिए।

और अंत में धन्यवाद ज्ञापन के साथ इस सभा का समापन किया गया।

Related News